News :
Home » , , , , » अपनी माटी का दूसरा वित्तीय वर्ष और सहयोग की अपील

अपनी माटी का दूसरा वित्तीय वर्ष और सहयोग की अपील

 दूसरा वित्तीय वर्ष और सहयोग की अपील 

दिनाँक 1 अप्रैल, 2014                                              जावक क्रमांक 2014 / अप्रैल /सदस्यता-सहयोग /पत्र/1

साथियो,
नमस्कार, आप और हम सभी के सहयोग के बूते बीते साल सितम्बर से संस्थागत स्वरुप में आया समूह अपनी माटी अब इसी एक अप्रैल से अपने दूसरे वित्तीय वर्ष में प्रवेश कर रहा हैइस लगभग एक साल में हम अगर राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में एक बड़ा साहित्यिक आयोजन माटी के मीत-2 कर सके तो यह आपके सहयोग से ही संभव हो सका है। अच्छी खबर यह भी कि साल दो हजार नौ से लगातार संचालित ई-पत्रिका अपनी माटी  अब हमारे संस्थान ही मुख पत्रिका के रूप में संचालित होने लगी है। यह पत्रिका बीते साल अप्रैल माह से मासिक रूप में प्रकाशित हो रही है और ऑनलाइन पत्रिकाओं की फेहरिश्त में बेहतर मानी जाने लगी है।हमने अपने इलाके के कई नवोदित और स्थापित रचनाकारों को अपनी पत्रिका में छापा है। साथ ही कई युवा शोधार्थियों को अपने मौलिक आलेखों सहित पाठकों के बीच लाने का भी काम हमने किया है

खैर,नए वित्तीय वर्ष में हम जुलाई-अगस्त माह में एक फ़िल्म फेस्टिवल करने का मानस रखते हैं। अगर सभी का मन बना और स्थितियां अनुकूल रही तो प्रतिरोध का सिनेमा  नामक जनपक्षधर संस्था के सयुंक्त तत्वावधान में यह आयोजन होगा। अपनी त्रैमासिक संगोष्ठियों सहित हम कोशिश करके एक बड़ा आयोजन माटी के मीत-3 भी करने का मन रखते हैं। देखो कितना संभव हो। योजनाएं बहुत है मगर जितना होगा हम सभी के आपसी सुझावों और सहमतियों के बीच ही हो सकेगा। इस पूरे परिदृश्य में हम आपसे अपील करना चाहते हैं कि बिना आर्थिक सपोर्ट के कुछ भी संभव नहीं है। हमारे विधान के अनुसार संस्थापक सदस्य बतौर सहयोग राशि पाँच सौ रूपए सालाना और साधारण सदस्य अपनी वार्षिक सदस्यता पाँच सौ रूपये जमा करायेंगे तो भी हम एक अच्छे फंड के साथ अपना साल शुरू कर सकेंगे। इससे बड़ा संबल मिलेगा।यथासम्भव बिना बड़ी और कोर्पोरेट भागीदारी के हम कुछ आयोजन स्वयं अपने फंड से ही कर सकेंगेहमारे संस्थापक सदस्यों को छोड़कर बाकी मित्रों की सदस्यता वार्षिक रूप से ही संधारित की जा रही हैतो निवेदन यह है कि अगर संभव हो तो अपनी सहयोग राशि लौटती डाक से भिजवायें

मित्रो,अगर आपके ध्यान में अपनी माटी के लिए आप बतौर नवीन सदस्य कोई नाम सुझाना चाहते हैं तो ज़रूर बताएं, हमारी कार्यकारिणी आये हुए नामों पर विचार कर उन्हें सदस्यता हेतु आवेदन पत्र स्वयं अपने स्तर पर भेजेगी। फिलहाल सदस्यता चित्तौड़गढ़ वासियों के लिए ही सम्भव हो सकेगी।बाक़ी संस्थान को सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है ही।आखिर में आपके मंगलमय जीवन की कामना

भवदीय 

सचिव
द्वारा 10-ए,कुम्भा नगर हाउसिंग बोर्ड ,स्कीम नंबर-6,चित्तौड़गढ़-312001
Share this article :

यहाँ आपका स्वागत है



ई-पत्रिका 'अपनी माटी' का 24वाँ अंक प्रकाशित


Donate Apni Maati

Bheem Yatra-2015

Follow by Email

Total Pageviews

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template