News :
Home » » गठन और पंजीकरण बाबत चिट्ठी

गठन और पंजीकरण बाबत चिट्ठी

नमस्कार,
साहित्य और संस्कृति की मासिक ई-पत्रिका अपनी माटी और इसकी गतिविधियों से आप परिचित होंगे ऐसा हमारा मानना है। आपके साथ ये बात बाँटते हुए प्रसन्नता है कि राजस्थान में चित्तौड़गढ़ से सचालित साहित्य और संस्कृति के प्रकल्प अपनी माटी संस्थान का औपचारिक गठन चार अगस्त, सन हजार तेरह को चित्तौड़गढ़ दुर्ग स्थित जटाशंकर महादेव मंदिर परिसर में उपस्थित अपनी माटी के साथियों ने किया। अभी तक बीते तीन सालों से केवल एक मासिक ई-पत्रिका और महज कुछ आयोजन ही करने वाला यह संस्थान जिले में आगे साहित्य और संस्कृति के लगभग सभी पहलुओं पर धर्मनिरपेक्ष ढंग से कार्य करेगा। गैर-राजनैतिक भावना से संचालित इस संस्था में आपसी समझ के साथ जिले के युवाओं के सांस्कृतिक उन्नयन का प्रयास किया जाएगा। बैठक में गठित संस्थान का अध्यक्ष नगर के वरिष्ठ साहित्यकार,समालोचक और कवि डॉ सत्यनारायण व्यास को सर्वसम्मति से मनोनित किया। संस्थान की दूजी गतिविधियों के संचालन हेतु बतौर सचिव डालर सोनी और कोषाध्यक्ष के पद पर सीमा सिंघवी अपनी अवैतनिक सेवाएँ देंगी। गौरतलब है कि अभी पूरी तरह से गैर-सरकारी और गैर-व्यावसायिक रवैये के साथ संचालित जिले के इस संस्थान का पंजीकरण प्रस्तावित है। हमारे साहित्यिक और सांस्कृतिक परिदृश्य को समृद्ध करते हुए आगामी समय में कुछ सार्थक आयोजनों को मुकाम देने के लिहाज से गठित इस मंच में  इन तीन पदाधिकारियों के अतिरिक्त बारह से अठारह संस्थापक सदस्य मनोनित किए जाने हैं। 

साथियों,पहली बैठक में उपस्थित मित्रों और बाकी हितेषियों से सलाह मशवरे के बाद यह तय किया गया है कि प्रस्तावित सदस्यों की एक साफ़-सुथरी सूची के मुताबिक़ उनसे संस्थान में जुड़ने की अनुमति ली जाए और संस्थापक सदस्य बनने की सहमति के बाद सहयोग राशि पांच सौ रुपये प्रति साथी(यदि आपके लिए संभव हो सके ) एकत्रित की जाए। हम आपको इसी आशय के साथ यह पत्र भेजकर साझेदारी में खुशी व्यक्त करना चाहते हैं कि हमारी मंशा में आपका नाम भी इस सूची का हिस्सा है। इस संस्थान के गठन से आप और हम मिलकर अपनी इन सह-शैक्षिक गतिविधियों को एक स्वस्थ माहौल में और भी ठीक से निभा सकेंगे। आपका नाम जुड़ने और  आपके सकारात्मक सहयोग से हमें और अपनी माटी को प्रत्यक्ष रूप से संबल मिलेगा। हम जनहित में कुछ बेहतर कार्य कर सकेंगे। यदि आप उचित समझते हैं तो हमें अपनी सहमति पच्चीस अगस्त, 2013 तक दीजिएगा। सभी के सहयोग के बूते ही हम अपने पंजीकरण कार्य को आगे बढ़ा सकेंगे। आपका अग्रिम शुक्रिया।

प्रस्तावित सदस्यों के नाम निम्न है जिन्हें प्रस्ताव पत्र भेजा गया है।
  1. डॉ ए एल जैन 
  2. डॉ चेतन खमेसरा
  3. श्री एम एल डाकोत
  4. श्री बी डी कुमावत
  5. श्री अश्रलेश दशोरा
  6. श्री नटवर त्रिपाठी
  7. श्री महेंद्र खेरारू
  8. श्री रमेश प्रजापत
  9. श्री राजेश रामावत
  10. श्री चंद्रशेखर कुमावत
  11. श्री रमेश शर्मा
  12. श्री अब्दुल ज़ब्बार
  13. श्रीमती रेखा जैन
  14. श्रीमती अंकिता पंचोली


दिनाँक सत्रह अगस्त, 2013 
Share this article :

यहाँ आपका स्वागत है



ई-पत्रिका 'अपनी माटी' का 24वाँ अंक प्रकाशित


Donate Apni Maati

Bheem Yatra-2015

Follow by Email

Total Pageviews

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template