News :
Home » , » 'अपनी माटी':विधान

'अपनी माटी':विधान


  1. साहित्य, संस्कृति और समाज के सभी पहलुओं पर धर्मनिरपेक्ष, गैर -राजनैतिक और साझेदारी के ढ़ंग से कार्य करना। 
  2. साहित्य-संस्कृति की पत्रिका और पुस्तकों का प्रकाशन करना।
  3. स्थानीय से राष्ट्रीय स्तर की संगोष्ठी और फिल्म फेस्टिवल का आयोजन, संयोजन और क्रियान्वयन करना।
  4. जनपक्षधरता पर केन्द्रित रंगमंचीय प्रदर्शन, कार्यशाला और संवाद बैठकों का आयोजन करना।
  5. अव्यावसायिक रवैये वाले समानान्तर संस्थानों के साथ संयुक्त तत्वावधान में समाज सापेक्ष गतिविधियों का आयोजन करना।
  6. वर्तमान परिदृश्य को समृद्ध करते हुए युवाओं के हित राष्ट्रीय पहचान के व्यक्तित्वों को आमंत्रित कर आयोजन रचना।
  7. औपचारिकतारहित, उद्देश्यकेन्द्रित और गैर-बराबरी को हतोत्साहित करती गोष्ठियों का आयोजन।

Share this article :
 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template