News :
Home » » स्थापना विचार

स्थापना विचार



राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले से संचालित साहित्य और संस्कृति के प्रकल्प 'अपनी माटी संस्थान' का औपचारिक गठन चार अगस्त, 2013  को हुआ। इसके प्रथम अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यकार,समालोचक और कवि डॉ सत्यनारायण व्यास को सर्वसम्मति से मनोनित किया।संस्थान की दूजी गतिविधियों के संचालन हेतु सचिव डालर सोनी और कोषाध्यक्ष सीमा सिंघवी को मनोनित किया गया। अभी तक अनौपचारिक रूप से संचालित मासिक ई-पत्रिका 'अपनी माटी डॉट कॉम' सहित 'माटी के मीत' और 'किले में कविता' सरीखे आयोजन करने वाले मित्रों ने मिलकर इसे संस्थागत स्वरुप दिया है।यह संस्थान पूर्व की तरह साहित्य और संस्कृति के लगभग सभी पहलुओं पर आगे भी धर्मनिरपेक्ष ढंग से कार्य करेगा। गैर-राजनैतिक भावना से संचालित इस संस्था में आपसी समझ के साथ युवाओं के सांस्कृतिक उन्नयन का प्रयास किया जाएगा।

हम इस बैनर के तहत भविष्य में जनपक्षधर विचारों को पोषित करने वाले आयोजनों में कविता कार्यशाला, रंगमंचीय प्रदर्शन, थिएटर कार्यशाला, प्रतिरोध से जुड़े फिल्म फेस्टिवल, कहानी-उपन्यास से सम्बद्ध संगोष्ठियों को अंजाम देने का मन रखते हैं। गौरतलब है कि अभी पूरी तरह से गैर-सरकारी और गैर-व्यावसायिक रवैये के साथ संचालित जिले के इस संस्थान का पंजीकरण प्रस्तावित है। हमारे साहित्यिक और सांस्कृतिक परिदृश्य को समृद्ध करते हुए आगामी समय में कुछ सार्थक आयोजनों को मुकाम देने के लिहाज से गठित इस मंच को आपके सहयोग की ज़रूरत है।
फेसबुक पेज : https://www.facebook.com/ApniMaatiSansthan
संपर्क : सचिव, अपनी माटी संस्थान, सी-84, कुम्भा नगर, चित्तौड़गढ़-312001,राजस्थान
ई-मेल : info@apnimaati.com
वेबसाइट : www.apnimaati.com
Share this article :
 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template